पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर पर भारत के निर्णय का किया स्वागत

- in विदेश

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने गुरुवार को अपने देश के ऐतिहासिक गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर बनाने के भारत के निर्णय का स्वागत किया। भारत के मंत्रिमंडल के निर्णय को दोनों देशों में शांति चाहने वाली लॉबी की जीत बताते हुए पाकिस्तान के सूचना व प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि नई दिल्ली की यह पहल इस मामले में इस्लामाबाद के प्रस्ताव का अनुमोदन है।

करतारपुर कॉरिडोर

चौधरी ने ट्वीट कर कहा, “यह सही दिशा में उठाया गया कदम है और हम उम्मीद करते हैं कि इस तरह का कदम सीमा के दोनों तरफ तर्क और शांति की आवाज को बुलंद करेगा।”

एकबार फिर हुई ‘लोकतंत्र की हत्या’, ये हम नहीं शरद यादव कह रहे हैं, जान लें क्यों?

इस बीच, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान 28 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर की आधारशिला रखेंगे। यह गुरु नानक की 550वीं जयंती के अवसर पर होने वाले समारोहों का हिस्सा होगा।

निर्दलीय उम्मीदवार को शिवराज सिंह ने जोर जबरदस्ती से बीजेपी में शामिल किया

मंत्री ने कहा, “हम इस पवित्र अवसर पर सिख समुदाय का पाकिस्तान में स्वागत करेंगे।”

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब भारत-पाकिस्तान सीमा से 3 किलोमीटर की दूरी पर है। यहीं पर सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपना अंतिम वक्त गुजारा था।